पीरियड के समय में सेक्स करने के फायदे

दोस्तों आज फिर से आपका www.newsdunia.in में स्वागत है आज हम आपको अपनी इस पोस्ट के तहत आपको बहुत ही रोमांचक बातो के बारे में जानकारी देने जा रहे है जिसमे हम आपको बताएंगे की महिला को होने वाले पीरियड क्या है यह किस तरीके से होते है और इसके समय में सेक्स करने के क्या क्या फायदे है !

पीरियड्स के दौरान सेक्स करने के अनेक फायदे

पीरियड क्या है

पीरियड्स का नाम तो वैसे सभी ने ही सुना होगा पर यह बात भी सही है की इसके बारे में पूरी जानकारी कोई भी नहीं रखता है क्या आप जानते है की पीरियड होता क्या है पीरियड एक चक्र का नाम है जो की महीअलो के साथ होता है यह प्रत्येक महीने महिलाओ की योनि से निकलने वाला गन्दा रक्त होता है जो की अंदर गर्भस्य से निकलकर योनि के छिद्र से होता हुआ भर निकल जाता है ज्यादातर तो सभी महिलाओ में यह  3–5 दिन तक आता है पर ऐसा होना पक्का नहीं होता है  कभी कभी कुछ महिलाओ के लिए एक दो दिन कम या एक दो दिन ज्यादा भी हो जाती है

इसमें कुछ खासियत होती है की यह प्रत्येक 28 से 30 दिन के अंदर दोबारा से आ जाता है पर कुछ महिलाओ के साथ यह प्रकिर्या अलग भी होती है उनको 21 दिन या 35–45 दिन के अंतराल में भी ऐसा होता है !

पीरियड के समय सेक्स करने के फायदे जाने

  • नाजुक भागो का ज्यादा संवेदनशील होना
  • एक दूसरे के बिच में प्यार का बढ़ना
  • पीरियड के समय में दर्द का कम होना
  • ल्युब्रिकेंट्स की जरुरत भी नहीं पड़ती
  • महिलाएं का इस समय ज्यादा उत्तेजित होना
  • शरीर की ऐठन में कमी होना
  • पीरियड्स के समय सेक्स करने के लिए चिकनाई की भी जरूरत नहीं
  • पीरियड के दिनों का कम हो जाना
  • तनाव में कमी होना
  • बीमारी का कम होना

 पीरियड में सेक्स करने के फायदे

नाजुक भागो का ज्यादा संवेदनशील होना

पीरियड्स के दिन में वैसे तो सेक्स करने में बहुत सरे फायदे होते है पर सबसे ज्यादा अच्छा तब महसूस होता है जब की इस्त्री के सब नाजुक भाग जैसे की महिला के स्तन और उसके पेट के निचे का हिस्सा बिलकुल ही संवेदनशील रहता है जिसका लड़के को इंटरक्रॉस करते समय बहुत फायदा होता है !

एक दूसरे के बिच में प्यार का बढ़ना

आप सभी को यह तो पता ही होगा की महिला के लिए पीरियड का समय सबसे ज्यादा गन्दा और सबसे बुरा होता है जिसके चलते उसको बहुत ज्यादा दर्द का सामना भी करना पड़ता है और बहुत गंदगी भी फैली रहती है जिसके कारन महिला बहुत दुखी रहती है पर जब ऐसे समय पर उसका साथी उसके पास आकर उसके साथ बात करता है और उससे प्यार करता है तो महिला के दिल में अपने साथी के लिए एक अलग ही जगह बन जाती है जिसके कारन दोनों के बिच में प्यार भी बढ़ जाता है !

पीरियड के समय में दर्द का कम होना

जब भी कोई भी लड़की किसी भी लड़की के साथ या कोई भी लड़का किसी लड़की के साथ ऐसे समय में इंटरक्रॉस करता है तो उसका सबसे ज्यादा फायदा लड़की को ही होता है सबसे ज्यादा तो उसको यह फायदा होता है की इस समय पर इंटरक्रॉस करते समय दर्द नार्मल होने की अपेक्षा बहुत ही कम होता है जिस से महिला को बहुत ही ज्यादा फायदा होता है और वो ऐसे में अपने साथी का पूरा साथ देकर भरपूर आनंद लेती है !

ल्युब्रिकेंट्स की जरुरत भी नहीं पड़ती

पीरियड्स के दौरान जो भी साथी इंटरक्रॉस करते है उनके लिए सबसे अच्छा तो यह होता है की इस समय पर उनको इंटरक्रॉस करते समय ल्युब्रिकेंट्स की जरुरत भी नहीं पड़ती है और वो आसानी से सब कुछ कर लेते है पर यह बात भी यद् रखनी चाहिए की पीरियड्स के अंतिम दिने में ल्युब्रिकेंट्स का उपयोग करना बिलकुल भी न भूले क्युकी इस समय पर इंटरक्रॉस करते समय ल्युब्रिकेंट्स का उसे करना जरुरी होता है !

महिलाएं का इस समय ज्यादा उत्तेजित होना

अगर आप लड़के है और आप को अपने साथी के साथ इंटरक्रॉस करने का मन कर रहा है और आपका साथी इस समय पीरियड के अंदर चल रहा है तो बस फिर तो आपको ज्यादा मेहनत करने की भी जरुरत नहीं है क्युकी पीरियड के समय पर महिला के मन में सबसे ज्यादा ईच्छा होती है तो बस आप यह समझ जाइये की आप को बिना ज्यादा मेहनत किये ही आप अपने साथी के साथ आसानी से इंटरक्रॉस कर लेंगे और आपको उसका बहुत फायदा भी होगा क्युकी आप आसानी से भरपूर समय तक इंटरक्रॉस का आनंद उठा पाएंगे !

शरीर की ऐठन में कमी होना

वैसे तो हम सब जानते ही है की जब भी हम किसी के साथ इंटरक्रॉस करते है या सेक्स करते है तो उस समय पर शरीर में ऑक्सीटोसिन और डोपामाइन हॉर्मोन के साथ साथ एंडोरफिंस का लेवल हमारे नार्मल के हिसाब से कुछ ज्यादा हो जाता है जिससे शरीर में ऐठन भी हो जाती है और ऐसा महिला के साथ भी होता है पर तब महिला को पीरियड की समस्या रहती है तो महीअलि के साथ वैसे तो सब कुछ होता है पर उनके शरीर में ऐठन नहीं हो पाती है जिसके कारन इंटरक्रॉस करने में बहुत ही ज्यादा आनंद अत है और भरपूर मजा भी ले लेते है !

पीरियड्स के समय सेक्स करने के लिए चिकनाई की भी जरूरत नहीं

पीरियड्स के समय सबसे ज्यादा वैसे तो महिला को ही फायदा रहता है पर उसके साथ ही ऐसा भी नहीं होता है की पुरुष को फायदा नहीं होता है पर तब भी जब पुरुष चाहे किसी ऐसे महिला के साथ भी इंटरक्रॉस करने के लिए तैयार हो जिसने पहले कभी भी सेक्स नहीं किया हो तो उस महिला के लिए भी किसी प्रकार की कोई चिकनाई की जरुरत नहीं पड़ती है क्युकी महिला के जननांगो के अंदर होने वाला छेद बिलकुल ढीला हुआ रहता है और उसमे महिला के होने वाले रक्त स्त्राव के कारन गिला भी हुआ रहता है इसी के कारन किसी चिकनाई की भी जरूरत नहीं पड़ती है और आसानी से सब कुछ हो जाता है !

पीरियड के दिनों का कम हो जाना

अगर कोई भी पुरुष किसी ऐसे महिला के साथ शारीरिक सम्भन्ध बनता है जिसको पीरियड ा रहे हो तो उसमे महिला के लिए एक बहुत ही स्पेशल फायदा हो जाता है जिसके बारे में किसी को भी पता नहीं होता की महिला की योनि का मुँह पहले की अपेक्षा ज्यादा खुल जाता है जिसके कारण महिला के अंदर से निकलने वाला गंदा खून बहुत ही तेजी से भर निकल जाता है और महिला को इस गंदगी से बहुत ही जल्दी चटकारा मिल जाता है और वो बहुत जल्दी रिलैक्स महसूस करती है !

तनाव में कमी होना

सेक्स करते समय आप सभी यह तो जानते ही होंगे और जिसने सेक्स किया है वो तो जानते ही होंगे की हमारे शरीर में नेचुरल फीलिंग और गुड होर्मोनेस, एंडोर्फिन और ऑक्सीटोसिन का बढ़ावा बहुत ही ज्यादा मात्रा में होता है जिसके कारण शरीर के साथ साररिक संबंध बनाने से जिस महिला को सेक्स के समय पर पीरियड आए रहते है उसको परेशानी तो रहती ही है उसको भी बहुत फायदा होता है क्युकी आप सब यह तो जानते ही होंगे की महिला ऐसे समय में किस्तनी परेशानिओ से जूझती रहती है और उन्हें कितना मानसिक तनाव यानि चिड़चिड़ापन रहता होगा पर अगर कोई भी पुरुष उनके साथ उस समय पर साररिक संबंध बनता है तो उसके कारण उनका मानसिक तनाव खत्म हो जाता है और उनको बहुत अच्छा फील होता है !

बीमारी का कम होना

आप ने अपने शरीर में होने वाली इम्मुनोग्लोबुलिन प्रतिरक्षा प्रणाली(रोग प्रतिरोधक रक्षा प्रणाली) के बारे में तो सुना ही होगा इसका कार्य केवल शरीर में होने वाली बीमारियों से शरीर को बचना होता है किसी भी संक्रमण के कारण अगर कोई भी बीमारी हमारे शरीर में प्रवेश करने की कोसिस करती है तो यह उस को तुरंत ही खत्म कर देती है विल्केस यूनिवर्सिटी, पेनसिलवेनिया के हिसाब से जो कोई भी एक सप्ताह में ३–४ बार साररिक संबंध बनाता है उसकी रोगप्रतिरोधक क्षमता कफी ज्यादा हो जाती है जिसके कारण बीमारी होने के चांस बहुत ही कम हो जाते है जो की हमारे शरीर में लिए बहुत फ़ायदेबंद है !

पीरियड के समय सेक्स करने से होने वाले फायदे

  • अगर कोई भी महिला किसी के साथ भी पीरियड समय में इंटरक्रॉस करती है तो उसको होने वाली ऐठन में बहुत आराम पूछता है
  • इंटरक्रॉस करने पीरियड का समय भी कम हो जाता है क्युकी इसके करने से योनि का छिद्र बड़ा होता है एक्ट स्त्राव जल्द ही खत्म हो जाता है !
  • इसके करने से पुरुष और महिला के रिश्ते में मिठास अति है और ऐसा करने से उन दोनों के बिच में प्यार की भी बढ़ोतरी होती है !
  • कम से कम एक सप्ताह में 3–४ बार इंटरक्रॉस करने से बीअमरि भी शरीर को कम जकड़ती है !
  • क्युकी ऐसा करने से शरीर में रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढ़ोतरी होती है !
  • पीरियड के समय में होने वाले मानसिक तनाव से बचने के लिए महिलाओ के लिए सेक्स करना एक बहुत ही अच्छा तरीका है !
  • आगे आप किसी पहली बार लड़की के साथ भी सेक्स करते है तो आपको पीरियड के समय पर चिकनाई की भी जरुरत नहीं पड़ेगी !
  • पुरुष को ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ती क्युकी इस समय पर महिलाए सेक्स के लिए बहुत उत्तेजित रहती है !
  • नाजुक भाग ज्यादा ही संवेदनशील होने के कारन इंटरक्रॉस करने में भी पुरुष को भी बहुत आनंद आता है !
  • पीरियड के समय में सेक्स करने से दर्द में काफी कमी होती है क्युकी नार्मल इंटरक्रॉस करते समय कभी कभी तो बहुत ही दर्द होता है !
  • पीरियड के शुरू के समय में इंटरक्रॉस करते समय ल्युब्रिकेंट्स की जरुरत भी नहीं पड़ती है जिससे कोई परेशानी भी नहीं होती है !
  • पीरियड के अंतिम दिने में इंटरक्रॉस करते समय कभी भी ल्युब्रिकेंट्स का प्रयोग करना न भूले !

 

अगर आप को मेरे द्वारा दी गयी जानकारी के अलावा कुछ और जानना है तो कृपया करके कमेंट के द्वारा जानकारी जरूर बताए और अगर आप को पोस्ट अच्छी लगे तो शेयर जरूर करे !

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *