मिर्गी क्या है, इसके लक्षण और इसका उपचार

दोस्तों आज फिर से आपका www.newsdunia.in में स्वागत है आज हम आपको कुछ अलग ही जानकारी प्राप्त करेएंगे जिसमे हम आपको बताएंगे की मिर्गी वाले मरीज को क्या क्या उपाय करने चाहिए !

 

मिर्गी होने के कारण

मिर्गी के लक्षण

  • अचानक चक्कर आ जाना !
  • अचानक बेहोशी हो जाना !
  • शरीर में अचानक से कमजोरी महसूस होना !
  • मस्तिष्क में अचानक चिड़चिड़ापन महसूस हो जाना !
  • आँखे ऊपर की तरफ होजाना !
  • हाथ पेरो में जकड़न हो जाना !
  • मुँह से सफ़ेद झाग का निकलना !
  • आँखों की पुतलिया अचानक ज्यादा घूमना !
  • बहुत गाढ़ी मूर्छा हो जाना !
  • अचानक सिर पर दबाव सा महसूस होना !

मिर्गी का दौरा पड़ने से पहले ही उसको कैसे रोके

  • कभी भी कोई भी दवा बिना डॉक्टर की सलाह के न ले !
  • शरीर को किसी भी चोट लगने से बचा के रखे !
  • डॉक्टर की दवाओं को समय पर ही लेते रहना !
  • अगर सिर में चोट लग जाए तो उसका अच्छे से इलाज करना !
  • कभी भी कोई भी बीमारी हो तो उसका तुरन्त ही अलाज कराना !
  • अगर आपको बुखार आता है तो उसकी दवा तुरंत ही लेले !
  • कभी भी नींद में कमी न होने दे !
  • समय पर ही डॉक्टर से चेकअप करवाते रहे !

मिर्गी दूर करने के उपाय

  • कभी भी तनाव न ले इससे भी मिर्गी होने के चांस रहते है
  • कभी भी आराम करने में कमी न करे !
  • ज्यादा से ज्यादा आराम करे !
  • कुछ आसन ऐसे होते है जिसके करने से भी मिर्गी कम होती है !
  • सेब के जूस का प्रतिदिन प्रयोग करने से मिर्गी में काफी आराम लगता है !
  • प्रतिदिन फ़िज़्ज़ पिने से भी मिर्गी नहीं होती है !
  • जब भी आप का मन चाय पिने का हो उस में आप तुलसी जरूर डाल ले !
  • अगर आप तुलसी के पत्तो को चबा सके तो तुलसी के पत्तो को मुँह में डालकर चबा ले !
  • मिर्गी वाले रोगी के लिए सहतूत का रस भी जरुरी होता है !
  • मिर्गी वाले रोगी के लिए अंगूर का रस भी जरुरी होता है !
  • गे के दूध से तैयार किया गया मक्खन भी मिर्गी वाले रोगी के लिए फ़ायदेबंद होता है !
  • मिर्गी के रोगी को कभी भी ज्यादा चिकनाई वाला खाना नहीं खाना चाहिए !
  • मिर्गी के रोगी को कभी भी ज्यादा कार्बोहइड्रेट वाला खाना नहीं खाना चाहिए !
  • मुर्गी के रोगी को सप्ताह में फ्लो का सेवन अवश्य करना चाहिए यह रोगी के लिए बहुत जरुरी है !
  • मिर्गी के रोगी को प्रतिदिन हींग का सेवन भीजरूर करना चाहिए !
  • मिर्गी के रोगी को नीबू का सेवन भी प्रतिदिन जरूर करना चाहिए !
  • गीली मिटटी को सिर पर लगाने से भी मस्तिष्क ठंडा रहता है इससे भी मिर्गी के कम पड़ने के चांस रहते है !
  • प्रतिदिन लहसुन की चार कली खाने से भी मिर्गी में आराम रहता है !
  • एक गिलास दूध ले और फिर उसमे लहसुन की कली को काटकर उस को उबाल ले और सोते समय उस का सेवन करे इससे भी मिर्गी में आराम रहता है !
  • अगर मिर्गी पड़ना सुरु हो गया हो तो उस व्यक्ति को पीसी हुई राई का चूर्ण सुंघा देते है इससे तुरंत ही आराम लग जाता है !

मिर्गी पड़ने पर क्या करे

  1. कभी भी ऐसे मरीज को देख कर कभी भी न डरे !
  2. कभी भी ऐसे व्यक्ति को न पकडे इससे व्यक्ति के सिर पर ज्यादा जोर पद जाता है जिस के कारन मरीज की मोत भी हो सकती है !
  3. मिर्गी पड़ने के समय को याद रखे और यह भी यद् रखे की मिर्गी पड़ने का समय कितना था !
  4. मिर्गी होते समय कभी भी मुँह में पानी न डेल इससे मरीज की साँस रुक सकती है !
  5. कभी भी अपना मुँह उसके मुँह पर लगाकर उसको साँस देने की कोशिस न करे !
  6. अगर मरीज को मिर्गी पड़नी शुरू हो गयी हो तो उसके पास राखी वस्तु को अलग कर दे कभी उस से चोट लग जाएगी !
  7. मिर्गी वाला व्यक्ति अगर करवट लेके न लोटे हुआ हो तो उसको एक करवट लेकर लिटा दे ताकि उसको साँस लेने में कोई भी दिक्कत न हो !
  8. उस व्यक्ति के सिर पर चोट न लगने पाए उस की वजह से सिर के निचे कुछ ऐसे वस्तु लगा दे ताकि उसके सिर के निचे गुदगुदा हो जाए !
  9. कभी भी उसके ऊपर कोई भी प्रेसर न डाले !
  10. कभी भी मरीज का मुँह खोलने के प्रयास न करे !
  11. मिर्गी पड़ने के समय पर तुरंत ही डॉक्टर की सलाह लेले जिस से की मरीज को तुरंत ही आराम पड़ जाए !

मिर्गी दूर करने के उपाय

  • तुलसी और सीताफल का प्रयोग
  • करौंदे के बीजो का प्रयोग
  • सफ़ेद प्याज का प्रयोग
  • शहतूत का प्रयोग
  • सुघने में प्रयोग
  • मुंग की और अरहर की दाल खाए
  • फल का सेवन जरूर करे
  • मेवे का प्रयोग जरूर करे
  • चटनी का प्रयोग जरूर करे
  • सलाद का प्रयोग प्रतिदिन करे
  • नाश्ता स्वादिष्ट करे

तुलसी और सीताफल का प्रयोग

रोगी को जब मिर्गी अणि शुरू हो गयी हो तो मिर्गी वाले प्राणी को तुलसी या सीताफल के पत्तो को पीसकर उस के रस को मरीज की नाक में डाले उसके करने से तुरंत ही मिर्गी खुल जाती है !

करौंदे के बीजो का प्रयोग

मिर्गी वाले मरीज को सबसे अच्छा सेवन करने के लिए यह ही रहता है की प्रतिदिन करोंदे के बीज और उसके पत्तो को पीसकर उसका किसी भी तरीके से मरीज को सेवन कराए इससे डोरे पड़ने बंद हो जायेंगे !

सफ़ेद प्याज का प्रयोग

मिर्गी वाले रोगी के लिए वैसे तो बहुत अलग अलग तरीके की द्वै होती है उनमे से ही एक यह भी है की मिर्गी वाले रोगी को प्रतिदिन दो चम्मच सफ़ेद प्याज का रस एक गिलास पानी के साथ लेना चाहिए इससे डोरे नहीं पड़ते है !

शहतूत का प्रयोग

जब रोगी को मिर्गी नहीं आ रही हो उस समय रोगी को सहतूत का रस निकलकर उसे पिलाना चाहिए इसके पिने से भी मिर्गी वाले रोगी को बहुत आराम महसूस होता है !

सुघने में प्रयोग

रोगी को पानी के साथ कपूर,तुलसी के पत्ते,अदरक,लहुसन को पीसकर उस को पीसकर जब मिर्गी के रोगी को मिर्गी आ रही हो तो उसे उस रस को सूंघना चाहिए !

मुंग की और अरहर की दाल खाए

रोगी को प्रतिदिन केवल गहुँ के एते की ही रोटी नहीं कहानी चाहिए बल्कि इसकी जगह मुंग की दाल, अरहर की दाल,चने की दाल , और कई नाज लेकर इन सभी के मिश्रण को पीसकर उसकी   रोटी बनानी चाहिए !

फल का सेवन जरूर करे

मिर्गी पड़ने वाले मरीज को प्रतिदिन फलो का सेवन जरूर करना जरूर चाहिए इसके करने से भी मिर्गी वाले मरीज को पहले के मुताबिक बहुत काम मिर्गी पड़ती है !

मेवे का प्रयोग जरूर करे

अगर आप कभी भी किसी बी ही मिर्गी वाले मरीज को देखते है तो आप उस मरीज को एक सलाह जरूर दे की उसको प्रतिदिन मेवों का प्रयोग जरूर करना चाहिए !

चटनी का प्रयोग जरूर करे

अगर मिर्गी वाला मरीज चटनी का भी सेवन कर लेता हो तो वह गाजर और पुदीने की चटनी का ही प्रयोग करे !

सलाद का प्रयोग प्रतिदिन करे

गाजर,मूली,प्याज और खीरे के सलाद का प्रयोग रोजाना करना चाहिए इससे भी मिर्गी में काफी आराम महसूस होता है !

नाश्ता स्वादिष्ट करे

हमेशा स्वादिस्ट खाने के प्रयोग करे इसके करने से भी शरीर के अनेक बीमारियों का भी खत्म हो जाता है !

 

 अगर आप को मेरे द्वारा दी गयी जानकारी में कोई भी गलती मिलती है तो कृपया करके कमेंट के द्वारा जानकारी जर्रोर दे और अगर आप को पोस्ट अच्छी लगे तो शेयर जरूर करे !

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *